HomeDelhi/NCRराम हमें द्वेष करना नहीं, द्वेष ख़त्म करना सिखाते है : डॉ....

राम हमें द्वेष करना नहीं, द्वेष ख़त्म करना सिखाते है : डॉ. कृष्ण गोपाल

प्रफुल्ल पांडेय,नोयडा। प्रेरणा शोध संस्थान न्यास द्वारा भाऊराव देवरस सरस्वती विद्या मंदिर में गोष्ठी एवं प्रेरणा विमर्श 2023 की स्मारिका विमोचन का आयोजन किया गया। मंच पर उपस्थित अतिथि डॉ. कृष्ण गोपाल, सह सरकार्यवाह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, माननीय सूर्यप्रकाश टोंक जी, क्षेत्र संघचालक, सुप्रसिद्ध लोकगायिका श्रीमती मालिनी अवस्थी उपस्थित रहीं।

मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह श्री कृष्ण गोपाल जी ने वहां उपस्थित होकर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई तथा अपने उद्बोधन में कहा की ये केवल मंदिर नही है, ये लोगो की आत्मा का संरक्षण है। राम हमे द्वेष करना नही, द्वेष खत्म करना सिखाते है।

वहीं कार्यक्रम में उपस्थित प्रसिद्ध लोकगायिका श्रीमती मालिनी अवस्थी ने श्री राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा पर अपने अनुभवों को प्रस्तुत करते हुए उन्होंने अपने बचपन में राम मंदिर के निर्माण के संघर्षों को आँखों देखा और कानों सुने, उस वक्त के राम भक्तों का संघर्ष और दर्द, अपने मार्मिक शब्दों के द्वारा अभिव्यक्त करा। बताया कि २२ जनवरी २०२४ राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा लोगों के लिए एक नया जन्म था, वह दिन सबसे सुंदर, सौम्य और पूरे विश्व के लिये सौभाग्यशाली दिन था। उन्होंने कहा कि जो राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में उपस्थित था उसमें प्रभु श्री राम की छवि परिलक्षित हो रही थी ।

राम मंदिर के इतिहास और प्राण प्रतिष्ठा के अनुभवों को बताते हुए वह भावुक भी हो गई। उन्होंने यह भी कहा कि वह अपने आप को बहुत सौभाग्यशाली मानती है कि उन्हें राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में गीत गाने का अवसर मिला और उन्हीं कुछ गीतों की पंक्तियाँ कार्यक्रम के दौरान उन्होंने अपनी गायकी से सभा को मनमोहित किया।अंतिम पंक्तियों में उन्होंने बोला की भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा का पूरा श्रेय माता जानकी को जाता है और इसलिए समाज में मातृशक्ति पूजनीय और समानिये मानी जाती है। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि मालिनी अवस्थी द्वारा सेक्टर 62 स्थित प्रेरणा भवन में वृक्षारोपण भी किया गया।

सूर्यप्रकाश टोंक जी ने भी राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के अनुभवों को मंच से साझा किया और कहा कि जो उन्होंने वहाँ मंदिर में महसूस करा था वह हर भारतीय ने अपने घर बैठकर भी गौरवान्वित किया। कार्यक्रम के संयोजक डॉ अनिल त्यागी और डॉ शुभ्रांशु झा रहे | कार्यक्रम मे कृपाशंकर जी संयुक्त क्षेत्र प्रचार प्रमुख, प्रदीप जोशी जी अखिल भारतीय सहप्रचार प्रमुख, मधुसूदन दादू, महेंद्र जी, क्षेत्र प्रचारक पश्चिमी उत्तर प्रदेश, सुभाष जी पुर्वी क्षेत्र सह प्रचार प्रमुख, डॉ सुभाष जी पूर्व सूचना आयुक्त उत्तर प्रदेश, डॉ. मनमोहन सिंह जी, शिक्षक गौतमबुद्ध विश्व विद्यालय, डॉ. अनिल त्यागी जी प्रान्त सहप्रचार प्रमुख मेरठ प्रान्त आदि गणमान्य व्यक्ति शामिल रहे ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments