HomeNationalमहाराष्ट्र सरकार ने अहमदनगर को दिया अहिल्यानगर का नाम

महाराष्ट्र सरकार ने अहमदनगर को दिया अहिल्यानगर का नाम

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने अहमदनगर शहर का नाम बदलकर इंदौर की रानी अहिल्याबाई होल्कर की याद में ‘अहिल्यानगर’ कर दिया है। वहीं सरकार ने मुंबई के सात उपनगरीय रेलवे स्टेशनों के नाम भी बदल दिए।

सरकार के अधिकारिक सूत्रों के अनुसार बुधवार को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की हुई बैठक में अहमदनगर जिले के नाम को अहिल्यानगर करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई, जिसके तहत अहमदनगर जिले का नाम 18वीं शताब्दी की मराठा रानी अहिल्याबाई होल्कर के नाम पर ‘अहिल्यानगर’ रखा जाएगा। गौरतलब है कि पिछले साल मई में यह प्रस्ताव लाने की घोषणा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने की थी। इसी प्रकार पुणे जिले के वेल्हे तालुका का नाम उस ऐतिहासिक किले के नाम पर ‘राजगढ़’ रखा गया है, जो 27 वर्षों तक छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा स्थापित मराठा साम्राज्य की पहली राजधानी था। वहीं बैठक में शिंदे सरकार ने मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे पर सात उपनगरीय स्टेशनों का आधुनिक पहचान के साथ नाम बदलने को भी मंजूरी दी है। कैबिनेट में दी गई मंजूरी के बाद अब करी रोड स्टेशन का नाम बदलकर लालबाग स्टेशन , सैंडहर्स्ट रोड स्टेशन का नाम डोंगरी स्टेशन होगा। इसी प्रकार मरीन लाइन्स का नाम मुंबादेवी स्टेशन और चर्नी रोड का नाम गिरगांव स्टेशन रखा गया है। जबकि कॉटन ग्रीन का नाम कालाचौकी स्टेशन, डॉकयार्ड का नाम मझगांव स्टेशन और किंग्स सर्कल का नाम तीर्थंकर पार्श्वनाथ स्टेशन रखा गया है। महाराष्ट्र विधानमंडल की मंजूरी के बाद इन नाम-परिवर्तनों का प्रस्ताव कार्यान्वयन के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय और रेलवे को भेजा जाएगा। गौरतलब है कि शिंदे सरकार ने पिछले साल औरंगाबाद का नाम बदलकर छत्रपति संभाजीनगर और उस्मानाबाद का नाम बदलकर धाराशिव कर दिया था।

दरअसल अहमदनगर रानी अहिल्यादेवी होल्कर का जन्म स्थान है। इसलिए अहमदनगर का नाम बदलने की मांग लंबे समय से चल रही थी। साल 2022 में भाजपा विधायक गोपीचंद पडलकर ने तत्कालीन सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर जिले का नाम बदलकर अहिल्यानगर करने की मांग की थी। मुख्यमंत्री को भेजे इस पत्र में पडलकर ने यहां तक लिखा था कि यह मांग सिर्फ उनकी नहीं हैं, बल्कि लोगों की भावना है कि अहमदनगर का नाम अहिल्यानगर होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब मुगल सैनिक हिंदू मंदिर गिरा रहे थे, तब अहिल्यादेवी होलकर ने उनका पुनर्निर्माण कराकर हिंदू संस्कृति को बचाया था। इसलिए वह हर हिंदू के लिए आदर्श हैं।

शिंदे कैबिनेट में बुधवार को हुए फैसलों में जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में महाराष्ट्र भवन बनाने के लिए 2.5 एकड़ जमीन खरीदने का फैसला भी शामिल है। वहीं कैबिनेट ने उत्तान (भायंदर) और विरार (पालघर) के बीच समुद्री लिंक बनाने को भी मंजूरी दे दी है। गौरतलब है कि इसके लिए बजट प्रस्ताव महाराष्ट्र विधानसभा के पिछले बजट सत्र में राज्य के बजट में पहले ही किया जा चुका था।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments