HomeInternationalबडी खबर: ईरान के राष्ट्रपति की हेलिकॉप्टर क्रैश होने से मौत।हेलिकॉप्टर का...

बडी खबर: ईरान के राष्ट्रपति की हेलिकॉप्टर क्रैश होने से मौत।हेलिकॉप्टर का मलवा मिला। जांच जारी, पीएम मोदी ने दुख व्यक्त किया।

भास्कर टुडे

ईरान के राष्ट्रपति के निधन पर पीएम मोदी ने भी शोक व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना जताई है.

पूर्वी अजरबैजान में हुए हेलिकॉप्टर हादसे में राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और विदेश मंत्री हुसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन की मौत हो गई थी।

पीएम नरेंद्र मोदी ने हेलीकॉप्टर दुर्घटना में ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी की मौत पर शोक व्यक्त किया। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने हेलीकॉप्टर दुर्घटना में ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी की मौत पर शोक व्यक्त किया। 

ईरान : पूर्वी अजरबैजान में हुए हेलिकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और विदेश मंत्री हुसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन की मौत हो गई है. हेलिकॉप्टर में कुछ अधिकारी भी सवार थे और उनकी भी मौत हुई है. हादसे के शिकार हुए हेलिकॉप्टर का मलबा मिल गया है. ईरान के राष्ट्रपति के निधन पर पीएम मोदी ने भी शोक व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना जताई है.

ईरान राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी, फाइल फोटो.

पीएम मोदी ने एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा, ‘ईरान के राष्ट्रपति डॉ. सैयद इब्राहिम रईसी के दुखद निधन से बहुत दुखी और स्तब्ध हूं. भारत-ईरान द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा. उनके परिवार और ईरान के लोगों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं. दुख की इस घड़ी में भारत ईरान के साथ खड़ा है.

मौके पर पहुंची रेस्क्यू टीम.
हेलिकॉप्टर का मलवा मिला।

अमेरिकी Bell 212 हेलिकॉप्टर में सवार थे ईरानी राष्ट्रपति रईसी, जानिए क्रैश पर हर एक डिटेल ।

ईरानी राष्ट्रपति के हेलिकॉप्टर का मिला मलबा, सभी सवार लोगों की मौत की आशंका  ।

ईरान के राष्ट्रपति का हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार, खराब मौसम के कारण सर्च ऑपरेशन में आ रही परेशानी 

आपको बता दें कि इसी चॉपर पर ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी, विदेश मंत्री और अन्य अधिकारी अजरबैजान से लौट रहे थे,तभी हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया. रेस्क्यू टीम पूरी तरह तबाह हो चुके हेलिकॉप्टर के मलबे तक पहुंच चुकी है. तेहरान टाइम्स ने बताया कि घने कोहरे की वजह से यह हादसा हुआ है.

40 टीमें कर रही थीं रेस्क्यू.

घटना के बाद से ही 40 अलग-अलग रेस्क्यू टीम को जंगलों और पहाड़ी इलाकों में भेजा गया था. लेकिन बेहद खराब मौसम के कारण इस क्षेत्र में पहुंचना बहुत मुश्किल हो गया था. जबकि आकाश मार्ग से वहां पहुंचना संभव नहीं है.पहाड़ी इलाके और भौगोलिक बाधाओं की वजह से राष्ट्रपति की टीम के साथ गए लोगों से संचार लगभग असंभव हो गया था. एक ईरानी टेलीविजन रिपोर्टर ने कहा कि जैसे-जैसे शाम हुई अंधेरा बढ़ता गया और ठंड भी बढ़ती गई. इलाके में सड़कें पक्की नहीं होने, बारिश और कीचड़ होने की वजह से रेस्क्यू टीम को घटनास्थल तक पहंचने में काफी दिक्कत हुई.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments