HomeNationalदेश में लोकतंत्र का अंत हो चुका : अजय माकन

देश में लोकतंत्र का अंत हो चुका : अजय माकन

नई दिल्ली। एआईसीसी के कोषाध्यक्ष अजय माकन ने आज एआईसीसी मुख्यालय में मीडिया को संबोधित किया। अजय माकन ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि आप सब लोगों का स्वागत है। आप लोगों को आज सुबह-सुबह एक बहुत ही चिंताजनक और निराशाजनक ख़बर शेयर करने के लिए बुलाया है। आप लोगों को जानकर आश्चर्य होगा और सही मायने में दुख भी होगा कि हिंदुस्तान के अंदर लोकतंत्र पूरी तरीके से ख़त्म हो गया है, लोकतंत्र की तालाबंदी हो गई है।हम लोगों को परसों ये जानकारी मिली कि जो चेक हम लोग इशू कर रहे हैं, बैंक उस चेक को ऑनर (honour) नहीं कर रहे हैं। उसके ऊपर जब हम लोगों ने आगे छानबीन की, तो हमें बताया गया कि देश की मुख्य ऑपोज़ीशन पार्टी के सारे अकाउंट्स फ्रीज़ कर दिए गए हैं। कांग्रेस पार्टी के अकाउंट्स पर तालाबंदी हो गई है, कांग्रेस पार्टी के अकाउंट्स फ्रीज़ कर दिए गए हैं। हमारे देश में लोकतंत्र पर तालाबंदी हो गई है और ये कांग्रेस पार्टी के अकाउंट्स फ्रीज़ नहीं हुए हैं, हमारे देश में डेमोक्रेसी फ्रीज़ हुई है।

उन्‍होंने कहा किकेवल 1-2 हफ्ते चुनाव घोषणा के लिए रह गए हों, ऐसे समय में प्रमुख ऑपोज़ीशन पार्टी के अकाउंट्स फ्रीज़ करके ये सरकार क्या दिखाना चाहती है? और किस आधार पर फ्रीज़ किए गए हैं, मैं आपको बताना चाहूंगा… तो वो हास्यास्पद है और ना केवल कांग्रेस पार्टी के, कल शाम को यूथ कांग्रेस के भी अकाउंट्स फ्रीज़ कर दिए गए हैं और यूथ कांग्रेस और कांग्रेस… दोनों के अकाउंट्स जो फ्रीज़ किए गए हैं, 210 करोड़ की रु. रिकवरी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने यूथ कांग्रेस और कांग्रेस से मांगी है। 210 करोड़ रु. की कुल रिकवरी और ये पैसा किसका है… ये कोई धनाढ्य पूंजीपतियों का पैसा, कॉर्पोरेट बॉन्ड का पैसा नहीं है… ये पैसा जो कांग्रेस पार्टी के अकाउंट्स में है, वो ऑनलाइन हम लोगों ने क्राउडफंडिंग की है, उसका पैसा पड़ा हुआ है। लगभग 25 करोड़ रुपए हमारा इकट्ठा हुआ है, जिसमें 95 प्रतिशत से भी ज्यादा पैसा 100-100 रुपए से भी कम यूपीआई से लोगों ने जमा कराया है। यूथ कांग्रेस का जो पैसा है, यूथ कांग्रेस की मेंबरशिप ड्राइव का पैसा है और वो पैसा इनकम टैक्स ने… भारत सरकार ने फ्रीज़ कर दिया है। हैरानी और दुख की बात है।

दूसरी तरफ़ जो इलेक्टोरल बॉन्ड्स का पैसा है, सुप्रीम कोर्ट ने जिसको unconstitutional कर दिया है, भारतीय जनता पार्टी के पास में वो पूरा पैसा है और उसको वो खर्च कर रही है तो लोकतंत्र कहाँ पर हमारे देश के अंदर जिंदा रहेगा? मैं इसलिए आज आपको बताना चाहता हूं और कहना चाहता हूं दुख से कि हमारे देश के अंदर लोकतंत्र ख़त्म हो गया है, लोकतंत्र के ऊपर बेड़ियां लग गई हैं, लोकतंत्र पर तालाबंदी हो गई है। ये कांग्रेस के अकाउंट्स पर तालाबंदी या बेडियां नहीं हैं, ये लोकतंत्र के ऊपर तालाबंदी और बेडियां हैं। चुनाव से दो हफ्ते पहले अगर किसी भी पॉलिटिकल पार्टी के अकाउंट फ्रीज़ हो जाते हैं, उसके ऊपर तालाबंदी हो जाती है तो लोकतंत्र के लिए इससे ज्यादा चिंता और दुख की बात नहीं हो सकती। क्या हमारे देश के अंदर एक ही पार्टी का सिस्टम रहेगा, क्या हमारे लोकतंत्र के अंदर… वन पार्टी पॉलिटिक्स हमारे देश के अंदर रहेगी, बाकी सभी पार्टियों के अकाउंट्स फ्रीज़ हो जाएंगे, बाकी पार्टियों को क्या रहने का अधिकार नहीं है?

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments