HomeBreaking Newsदेश भर में पेट्रोल हुआ 2 रुपये सस्ता

देश भर में पेट्रोल हुआ 2 रुपये सस्ता

नई दिल्ली। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने गुरुवार को घोषणा की कि तेल मार्केटिंग कंपनियों ने कीमतों में संशोधन किया है, जिससे पूरे भारत में पेट्रोल और डीजल शुक्रवार से लगभग 2 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो जाएगा। मंत्रालय ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, “तेल मार्केटिंग कंपनियों (ओएमसी) ने सूचित किया है कि उन्होंने देशभर में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में संशोधन किया है। नई कीमतें 15 मार्च 2024, सुबह 06:00 बजे से प्रभावी होंगी।

मंत्रालय द्वारा साझा किए गए ग्राफ के अनुसार, दिल्ली में अब पेट्रोल की कीमत 96.72 रुपये प्रति लीटर के मुकाबले 94.72 रुपये प्रति लीटर होगी और डीजल की कीमत 89.72 रुपये के मुकाबले 87.62 रुपये होगी। मुंबई में पेट्रोल अब 106.31 रुपये की जगह 104.21 रुपये प्रति लीटर और डीजल 94.27 रुपये की जगह 92.15 रुपये प्रति लीटर बिकेगा। इसी तरह यूपी में भी पेट्रोल की दाम में कटौती हुई है।

उत्तर प्रदेश के शहरों में रेट
लखनऊ
पेट्रोल 96.57 रुपये
डीजल 89.76 रुपये
कानपुर
पेट्रोल 97.50 रुपये
डीजल 90.86 रुपये
प्रयागराज
पेट्रोल 97.62 रुपये
डीजल 90.82 रुपये
आगरा
पेट्रोल 96.42 रुपये
डीजल 89.59 रुपये
वाराणसी
पेट्रोल 96.80 रुपये
डीजल 89.99 रुपये
मथुरा
पेट्रोल 95.99 रुपये
डीजल 89.16 रुपये
मेरठ
पेट्रोल 96.56 रुपये
डीजल 89.74 रुपये
गाजियाबाद
पेट्रोल 96.58 रुपये
डीजल 89.75 रुपये
गोरखपुर
पेट्रोल 96.81 रुपये
डीजल 89.99 रुपये
कोलकाता में पेट्रोल 103.94 रुपये
कोलकाता में पेट्रोल 106.03 रुपये की जगह 103.94 रुपये और डीजल 92.76 रुपये की जगह 90.76 रुपये और चेन्नई में पेट्रोल 102.63 रुपये की जगह 100.75 रुपये और डीजल 94.24 रुपये की जगह 92.34 रुपये प्रति लीटर मिलेगा। मंत्रालय ने यह भी कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी से उपभोक्ता खर्च को बढ़ावा मिलेगा और डीजल से चलने वाले 58 लाख से अधिक भारी माल वाहनों, 6 करोड़ कारों और 27 करोड़ दोपहिया वाहनों की परिचालन लागत कम हो जाएगी।
यात्रा उद्योगों को मिलेगा बढ़ावा
इस उपाय से नागरिकों को अधिक प्रयोज्य आय के माध्यम से लाभ होगा, पर्यटन और यात्रा उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा, मुद्रास्फीति पर नियंत्रण होगा, उपभोक्ता विश्वास और खर्च में वृद्धि होगी, परिवहन पर निर्भर व्यवसायों के लिए खर्च कम होंगे, लॉजिस्टिक्स, विनिर्माण और खुदरा क्षेत्रों के लिए लाभप्रदता बढ़ेगी। इसमें कहा गया है कि ट्रैक्टर संचालन और पंप सेट पर किसानों का खर्च कम हो गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments