HomeNationalजम्मू -कश्मीर में फारूक अब्दुल्ला का ऐलान, कहा, हम अकेले चुनाव लड़ेंगे

जम्मू -कश्मीर में फारूक अब्दुल्ला का ऐलान, कहा, हम अकेले चुनाव लड़ेंगे

श्रीनगर। लोकसभा चुनाव से पहले ही INDIA गठबंधन के साथी छिटकने लगे हैं। वह गठबंधन तोड़कर जा रहे हैं। वहीं अब जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेन्स पार्टी के चीफ फारूक अब्दुल्ला ने INDIA गठबंधन से अलग अकले का रास्ता अपना लिया है। दरअसल, फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि उनकी पार्टी अपने दम पर जम्मू-कश्मीर में विधानसभा या लोकसभा चुनाव लड़ेगी। चर्चा यह भी ज़ोरों पर है कि फारुक अब्दुल्ला इंडिया गठबंधन छोड़कर एनडीए गठबंधन में शामिल हो सकते हैं।

फारूक अब्दुल्ला ने INDIA गठबंधन से अलग अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान मीडिया के सामने किया है। फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि मुझे लगता है कि विधानसभा और लोकसभा के चुनाव यानी दोनों चुनाव एकसाथ होंगे। जब पत्रकारों ने अब्दुल्ला से इंडिया गठबंधन में सीट शेयरिंग पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि जहां तक सीट शेयरिंग का सवाल है तो मैं एक बात क्लियर कर देता हूं कि नेशनल कॉन्फ्रेन्स अपने बल-बूते पर चुनाव लड़ेगी, इसमें कोई दो राय नहीं है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि देश बनाने के लिए जो करना पड़ेगा, वो करूंगा। अब्दुल्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से मुलाकात के लिए बुलाया जाएगा तो वह जाना चाहेंगे।

नेशनल कॉन्फ्रेन्स पार्टी के चीफ फारूक अब्दुल्ला के ऐलान पर कांग्रेस महासचिव(संचार) जयराम रमेश ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला के साथ बातचीत चल रही है। हर पार्टी की अपनी मजबूरियां होती हैं। नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी INDIA गठबंधन का हिस्सा रहे हैं और रहेंगे।

नीतीश-जयंत चौधरी जा चुके, ममता एकला चलो की राह पर : INDIA गठबंधन बनने के बाद यहां सबसे बड़ा कांटा सीट शेयरिंग को लेकर फंस गया। गठबंधन के अलग-अलग साथी दलों में सीट बँटवारे में सहमति अब तक नहीं बन पाई है। इसी बीच पिछले महीने बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने गठबंधन का पाला बदलकर खेला कर दिया। गठबंधन में पद-प्रतिष्ठा और कामों को लेकर आपसी उठापटक से नीतीश कुमार ने नाराज होकर एनडीए गठबंधन में वापसी कर ली। इस बीच INDIA गठबंधन के साथ लालू की पार्टी आरजेडी को भी झटका लगा। फिलहाल नीतीश ने जबसे पाला बदला है, तभी से इंडिया गठबंधन के भविष्य को लेकर सवाल उठते रहे हैं।

नीतीश कुमार के बाद INDIA गठबंधन को दूसरा बड़ा झटका तब लगा जब हाल ही में जयंत चौधरी की पार्टी रालोद ने भी इस गठबंधन से नाता तोड़ लिया और एनडीए गठबंधन में अपनी मौजूदगी तय की। उधर, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का कुछ समझ नहीं आ रहा है। ममता बनर्जी भी एकला चलो की राह अपनाए हुए हैं और बयान दे चुकी हैं कि वह अकेले चुनाव लड़ेंगी। वहीं ममता के अलावा आम आदमी पार्टी भी सीट बंटवारे के मुद्दे पर INDIA गठबंधन से नाखुश है और अकेले ही सीटों पर अपने उम्मेदवार उतारने में लगी हुई है। कुल मिलाकर देखें तो नरेंद्र मोदी और बीजेपी को हराने के लिए बना 28 दलों का इंडिया गठबंधन धीरे-धीरे बिखरता दिख रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments