HomeMoradabadकुंदरकी में पहली मोहर्रम का मातमी जुलूस निकला ।

कुंदरकी में पहली मोहर्रम का मातमी जुलूस निकला ।

 

भास्कर टुडे

कुंदरकी में पहली मोहर्रम का मातमी जुलूस निकला 

 

शोएब पाशा मुरादाबाद 

 

उत्तर प्रदेश/मुरादाबाद/कुंदरकी। नगर में सोमवार को पहली मोहर्रम का कदीमी अलम मुबारक का जुलूस नम आँखो के बीच हाय हुसैन हाय अब्बास की सदाओ के साथ निकला तथा नगर स्थित क़र्बला पर हजरत इमाम हुसैन के शौक के प्रतीक काला अलम लगा दिया गया ।

मोहर्रम के पहले जुलूस में हजारों लोगों ने शिरकत की।

कुंदरकी सय्यद कंबर अब्बास नकवी के आजाखाने पर मजलिस हुई जिसमे गुलाम मेंहदी रिज़वी ने मरसिया पढ़ा और मजलिस को काशिफ अब्बास काजमी ने ख़िताब करते हुए कहा की रसूले करीम व इस्लाम ने अमन शांति का पैगाम दिया लेकिन यजीद इस्लाम और रसूले करीम के पैगाम खत्म करने के साथ इंसानियत को खत्म कर रहा था लेकिन पैगंबर ए इस्लाम के पैगाम और इंसानियत को बचाने के लिए हजरत इमाम हुसैन ने अपने 72 साथियों के साथ क़र्बला के मैदान में कुर्बानी पेश की। क़र्बला के मैदान में हजरत इमाम हुसैन के 71साथियों ने इत्तेहाद के साथ यजीद के लाखों के लशकर से सर कटवा कर जंग जीत ली। क़र्बला जुल्म का विरोघ करने और इंसानियत का पैगाम देती है। उन्होंने हजरत इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों की शहादत ब्यान की तो आँखे नम हो गईं। नम आँखों के बीच हाय हुसैन हाय अब्बास के साथ अलम मुबारक का जुलूस बरामद हुआ। जुलूस में अंजुमन शाने हैदरी, अंजुमन अकबरी, अंजुमन अलमूर्तजा, फैसल अब्बास रिज़वी,रज़ा अस्करी रिज़वी, अय्यान रिज़वी आदि ने नोहे ख्वानी की। जुलूस नगर के पैठ बज़ार होते हुआ नगर स्थित क़र्बला पहुंचा और क़र्बला पर हजरत इमाम हुसैन के शौक के प्रतीक काला अलम लगा दिया गया। जुलूस में शांति व्यवस्था के लिए पुलिस बल मौजूद रहा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments